कुशीनगर

  • कुशीनगर
  • केला फाइबर उत्पाद

    केला फाइबर उत्पाद

    केला फ़ाइबर धागे बनाने, कपड़े की थैलियों, सूत्र व कार्बनिक खाद बनाने में उपयोगी होता है। जिले में केले की अधिक मात्रा में खेती के कारण इस उद्योग ने जिले में बहुत ही आशाजनक संभावनाएं उत्पन्न की हैं। केला का फ़ाइबर एक प्राकृतिक फ़ाइबर है जिससें हस्तशिल्प उत्पाद जैसे मैट और रस्सी उत्पादित किए जा सकते हैं, लेकिन सिर्फ 10% ही केले के पेड़ का तना, उत्पादों को बनाने के लिए उपयोग किया जाता है और शेष खाद के रूप में प्रयोग किया जाता है। ज्यादातर फाइबर हाथों से निकाला जा रहा है और फाइबर की उपज बहुत कम होती है। इस तरह की हस्त संबंधी काम की प्रक्रिया कुशल श्रमिकों द्वारा की जाती है।

    परिचय

    कुशीनगर ( कुसीनगर, कुसीनारा, कासिया और कासिया बाजार के नाम से भी जाना जाने वाला ज़िला ), एक तीर्थयात्रा शहर है। महाकाव्य रामायण में वर्णित भगवान राम के पुत्र कुश के नाम पर इस ज़िले का नाम पड़ा था। यह भी माना जाता है कि जिले में अधिक मात्रा में कुश नामक एक प्रकार की घास पायी जाती है, इसलिए जिला को कुशीनगर नाम दिया गया था।

    कुशीनगर मुख्य स्तूप (भगवान बुद्ध के शरीर की राख पर बनी एक गोलाकार सिविल संरचना), में भगवान बुद्ध की 6.10 मीटर की मूर्ति है जो पूरी दुनिया में आज तक भगवान बुद्ध की सबसे ऊंची मूर्ति मानी जाती है और महा धार्मिक आस्था का मंदिर, जिसे बौद्ध के लिए दुनिया में सबसे पवित्र स्थान माना जाता है दोनों इस ज़िले में स्थित स्थित है।

    कृषि भूमि गन्ना, धान, गेहूं, फल और हल्दी के लिए सबसे उपयुक्त है। यह अपने केले फाइबर उत्पादों के लिए भी जाना जाता है। केला फाइबर कपड़ा उद्योग में एक मिश्रण सामग्री के रूप में बड़े पैमाने पर उपयोग किया जाता है; पल्प उद्योग और हस्तशिल्प की एक विस्तृत श्रृंखला भी केला फाइबर से बनाई जाती है।

    • तहसील

      6

    • ब्लॉक

      14

    • ग्राम

      1620

    • पंजीकृत औद्योगिक
      इकाइयां

      3736

    • लघु उद्योग

      -

    • फाइबर इंडस्ट्रीज
    • चीनी मिल उद्योग
    • इंजीन्यरिंग उद्योग
    • डिस्टिलरीज

    • खाद्य उत्पाद
    • पेय पदार्थ
    • ऊनी, रेशमी एवं कृत्रिम धागों से निर्मित वस्त्र
    • रेडीमेड गारमेंट्स एवं कढ़ाई
    • लकड़ी/लकड़ी आधारित फ़र्नीचर
    • कागज एवं कागज उत्पाद
    • चमड़ा आधारित
    • रसायन/रसायन आधारित
    • रबर, प्लास्टिक एवं पेट्रो आधारित
    • खनिज आधारित
    • धातु आधारित (स्टील फ़ेब्रेकिशन )
    • विद्युत के अतिरिक्त मशीनरी पुरजें
    • विद्युत मशीनरी और उपकरण
    • यातायात उपकरण और भाग
    • विविध विनिर्माण
    • मरम्मत एवं सर्विसिंग
    • सूक्ष्म
    • शिल्पकार

    -

    संबन्धित योजनाएँ एवं नीतियाँ

     क्रमांक   विभाग   योजना 
    1 विकास आयुक्त (हस्तशिल्प) कपड़ा मंत्रालय  आंबेडकर हस्तशिल्प विकास योजना 
    2 विकास आयुक्त (हस्तशिल्प) कपड़ा मंत्रालय  विशाल समूह 
    3 विकास आयुक्त (हस्तशिल्प) कपड़ा मंत्रालय  विपणन समर्थन एवं सेवाएँ 
    4 विकास आयुक्त (हस्तशिल्प) कपड़ा मंत्रालय  अनुसंधान एवं विकास 
    5 विकास आयुक्त (हस्तशिल्प) कपड़ा मंत्रालय  राजीव गांधी शिल्पी स्वास्थ्य बीमा योजना 
    6 विकास आयुक्त (हस्तशिल्प) कपड़ा मंत्रालय  आम आदमी बीमा योजना 
    7 विकास आयुक्त (हस्तशिल्प) कपड़ा मंत्रालय  मुद्रा योजना के अंतर्गत हस्तशिल्पियों हेतु मार्जिन मनी स्कीम 
    8 सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम एवं निर्यात संवर्धन विभाग सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम योजनाएँ 
    9 निर्यात संवर्धन ब्यूरो, उत्तर प्रदेश सरकार   निर्यात संवर्धन योजनाएँ 
    10 सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम नीति - 2017  सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम एवं निर्यात संवर्धन विभाग
    11 बुनियादी ढांचा एवं औद्योगिक निवेश नीति - 2012  सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम एवं निर्यात संवर्धन विभाग
    12 ओ.डी.ओ.पी.  सी.एफ.सी. (सामान्य सुविधा केंद्र) योजना 
    13 ओ.डी.ओ.पी.  विपणन विकास सहायता योजना 
    14 ओ.डी.ओ.पी.  वित्तीय सहायता योजना 
    15 ओ.डी.ओ.पी.  क्षमता विकास एवं टूल किट वितरण योजना 
    16 उद्यम एवं क्षमता विकास मंत्रालय  प्रधान मंत्री कौशल विकास योजना (पी.एम.के.वाई.वाई.) 
    17 वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय, वाणिज्य विभाग  निर्यात कैसे  करें (चरणबद्ध प्रकार) 
    18 वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय, वाणिज्य विभाग  विदेश व्यापार नीति